कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाला नागौर में फिर से कांग्रेस ने लहराया परचम

सियासत में कांग्रेस के गढ़ के तौर पर अपनी पहचान रखने वाला जिला नागौर में विधानसभा चुनाव के आए नतीजे के बाद फिर से कांग्रेस का गढ़ बन गया है. जिले की 10 विधानसभा सीटों में से 6 पर पार्टी ने अपना परचम लहराया है. लाडनू से मुकेश भाकर ने लगभग 10000 वोटों से जीत हासिल की है। हालांकि शुरुआत में मामला टककर का रहा लेकिन मुकेश भाकर अपनी सीट निकालने में कामयाब हुए। परबतसर सीट से सबसे कम उम्र के युवा नेता रामनिवास गावडिया ने 14 हजार वोटों से जीत हासिल की। डीडवाना से चेतन डूडी ने 40 हजार वोटों से जीत का परचम लहराया। नामा से कांग्रेस प्रत्याशी महेंद्र चौधरी 2 हजार वोटों से अपनी जीत निकालने में कामयाब हुए। डेगाना से विजयपाल मिर्धा ने भाजपा के मंत्री अजय सिंह किलक को हराकर 21000 मतों से भारी जीत हासिल की है। जायल से मंजू मेघवाल ने भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार को हराकर 18 हजार वोटों से जीत का परचम लहराया। वहीं नागौर और मकराना ने भारतीय जनता पार्टी की नाक बचा ली। और खींवसर और मेड़ता से राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी अपनी सीट जीतने में कामयाब हुई।

Leave a Reply