ज्योति मिर्धा हुई नागौर में सक्रिय, हनुमान बेनीवाल के लिए मुसीबत खड़ी

ज्योति मिर्धा हुई नागौर में सक्रिय, हनुमान बेनीवाल के लिए मुसीबत खड़ी

Capture 2018-12-27 16.00.29

नागौर। राजस्थान में विधानसभा चुनाव खत्म होते ही सारे नेता लोकसभा चुनाव के लिए तैयारियां शुरू कर दी है। ऐसे में नागौर की पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा नागौर में पूरी तरह सक्रिय हो चुकी है। पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा ने कल नागौर का दौरा किया। जहां पर उन्होंने समाज संस्थान में बनाई गई बिल्डिंग के लिए 5 लाख रुपए की सहायता दी। इसके अलावा नागौर जिले में ही गांव ईदास में हुए मूर्ति अनावरण समारोह में भी भाग लिया। इन दोनों जगह ज्योति मिर्धा के साथ हाल ही में कांग्रेस से जीते परबतसर विधायक रामनिवास और लाडनूं विधायक मुकेश भाकर साथ में थे। इसके अलावा गांव ईदास के मूर्ति अनावरण समारोह में मकराना से भाजपा विधायक रूपाराम भी साथ में दिखे।

 

आपको बता दें कि, नागौर जिले में पिछले 70 सालों से मिर्धा का दबदबा कायम है। नागौर जिले की शान है मिर्धा। खासकर नागौर जिला जाटों की राजनीति का गढ़ माना जाता है। देश में हुए 2014 के लोकसभा चुनाव में ज्योति मिर्धा की हार हुई। इस हार के प्रमुख दो कारण हैं। और राजस्थान में सबसे कम वोटों से ज्योति मिर्धा की हार हुई। पहला कारण उस समय मोदी लहर चल रही थी जिसके कारण नागौर जिले के सांसद और मंत्री सी आर चौधरी ने जीत हासिल की थी। दूसरा और प्रमुख कारण नागौर जिले से ही जाट नेता हनुमान बेनीवाल जिन्होंने खींवसर से विधायक रहते हुए भी उन्हें दलिया के तौर पर लोकसभा चुनाव लड़ा और एक लाख 60 हजार वोट लिए। इसी के कारण ही ज्योति मिर्धा की हार हुई।

 

लेकिन इस बार फिर से डॉ ज्योति मिर्धा का दबदबा कायम है। और नागौर जिले में काफी महीनों बाद फिर से ज्योति मिर्धा के सक्रिय होने पर उनके समर्थकों में खुशी की लहर है। साथ ही यह उम्मीद जाग चुके हैं कि, इस बार फिर से ज्योति मिर्धा चुनाव लड़ेगी।

 

आपको बता दें कि, नागौर दौरे पर आई ज्योति मिर्धा ने मीडिया कर्मियों और कार्यकर्ताओं को बताया कि, अगर पार्टी उन्हें टिकट देगी तो वह नागौर से लोकसभा का चुनाव लड़ेगी। सूत्रों के अनुसार ज्योति मिर्धा का नागौर से टिकट तय है। इसका प्रमुख कारण विधानसभा चुनाव में ही ज्योति मिर्धा का दबदबा रहा और इन्होंने नागौर में टिकट दिलवाए। जिसमें से परबतसर और लाडनू से रामनिवास और मुकेश भाकर ने जीत हासिल की है।

 

इसके अलावा राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल भी इस बार फिर से लोकसभा चुनाव में उतरने की तैयारी में है। यह बात भी खुद अपनी सार्वजनिक सभा में कहते आ रहे हैं। ऐसे में यहां का चुनाव टक्कर का होने वाला है।

 

Leave a Reply