राम मंदिर मुद्दे पर बीजेपी और योगी सरकार के बीच चली 7 घंटे की बैठक, हुआ बड़ा निर्णय

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका मेरे ब्लॉग में अभी तक आपने हमें फॉलो नहीं किया तो तुरंत फॉलो कर लीजिए ताकि आपको मिलते रहे हर न्यूज़ का अपडेट सबसे पहले।


दोस्तों खबरों के अनुसार राम मंदिर के मुद्दे पर आरएसएस, भारतीय जनता पार्टी और योगी सरकार के बीच लखनऊ में 7 घंटे की लंबी बैठक में लोकसभा और कैबिनेट में फेरबदल को लेकर चर्चा हुई है। बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने बीजेपी अध्यक्ष के सामने राम मंदिर को लेकर अपना स्टैंड खड़ा कर दिया है।

खबरों के अनुसार भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह लखनऊ के आनंदी वाटर पार्क में आयोजित संगठन और संघ के बीच हुए समन्वय बैठक में शामिल हुए हैं। इस बैठक में संघ के नेताओं ने अमित शाह को राम मंदिर के लिए कानून बनाने का सुझाव भी दिया है।

बैठक में संघ ने बताया कि मंदिर बनाने को लेकर किसी भी तरह की ढिलाई नहीं दिखनी चाहिए अगर ढिलाई दिखती है तो इसका फायदा दूसरे दल उठा सकते हैं।  खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि, भारतीय जनता पार्टी संगठन और संघ के बीच हुई इस बैठक में राम मंदिर का मुद्दा उठाया गया है। जबकि इस पूरे मामले की विस्तार से चर्चा कोर ग्रुप में हुई है।

इस बैठक में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने साफ तौर पर कह दिया है कि, हम न्याय लेकर आखरी फैसले तक का इंतजार कर रहे हैं। और न्यायालय का फैसला का इंतजार करना भी चाहिए। जबकि उन्होंने बताया कि 1990 में बीजेपी का जो राम मंदिर पर स्टैंड था वह आज भी कायम है।

इसके बाद लखनऊ में हुई बैठक में 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर भी मंथन किया गया है। बैठक के दौरान भाजपा और सभी संगठनों को साफ तौर पर 2019 लोकसभा चुनाव की तैयारी के लिए निर्देश दिए गए हैं।

दोस्तों आप की पोस्ट के बारे में क्या राय है। हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताइए  पोस्ट पसंद आए तो लाइक करें। अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। धन्यवाद।

Leave a Reply