भारत बंद में जमकर बोले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन, मोदी को दिया बड़ा स्टेटमेंट

भारत बंद में जमकर बोले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन, मोदी को दिया बड़ा स्टेटमेंट
आज कांग्रेस द्वारा पेट्रोल डीजल और गैस सिलेंडर की बढ़ती कीमतों पर भारत बंद रखा गया है. और इस भारत बंद में कांग्रेस पार्टी को अन्य 20 विपक्षी दलों का समर्थन भी मिला है. इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के मुख्य शरद पवार और शरद यादव राजघाट पहुंचे हैं. इस दौरान पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर और BJP सरकार पर जमकर निशाना साधा है.
सरकार बदलने का समय जल्द ही आएगा
पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा है कि, मोदी सरकार ने देश के लिए बहुत सारी चीजें की है, जो देश हित में नहीं आती है. इसलिए अब मोदी सरकार को बदलने का समय बहुत ही जल्दी आएगा. आज मोदी सरकार के खिलाफ बढ़ते पेट्रोल डीजल की कीमतों को लेकर भारत बंद के दौरान मोदी और BJP सरकार पर प्रदर्शनकारी जमकर नारेबाजी कर रहे हैं. आज देश में भारत बंद को देखते हुए कई राज्यों में कार्यालय, स्कूलें और कॉलेजों में छुट्टी घोषित कर दी गई है.
कुछ शहरों में भारत बंद के प्रदर्शनकारी जबरन दुकानें, स्कूल, कार्यालय और बसों को बंद करवा रहे हैं. दूसरी और कई राज्यों में जबरन तोड़फोड़ करने के समाचार भी सामने आए हैं.
भारत बंद के दौरान राजस्थान में हुई लाठीचार्ज

पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों पर आज भारत बंद के तहत गंगापुर कस्बे में पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा. खबरों के अनुसार यहां पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और व्यापारियों में झड़प हो गई थी. झड़प में दो व्यापारियों के साथ मारपीट की गई थी. इसलिए वहां से भीड़ को हटाने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा.
राज्य के नागौर जिले में भी भारत बंद के तहत दुकान बंद करवाने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं और दुकान वालों में जबरदस्त झड़प हो गई है. वहां पर कांग्रेस कार्यकर्ता और दुकान व्यापारी आमने-सामने हो गए थे. जिसके कारण एनएसयूआई के जिला अध्यक्ष राजेंद्र डूकिया और दुकानदार के बीच में धक्का-मुक्की के बाद मामला बिगड़ने पर पुलिस ने आकर मामला शांत करवाया और दोनों गुटों को अलग अलग किया. दूसरी ओर जिला के कई दुकानदारों ने सुबह से दुकान नहीं खोली है. जबकि कुछ दुकानदारों ने अपने निर्धारित समय पर दुकानें खोल दी थी. जिसके कारण यह सारा मामला हुआ.
जयपुर में कार्यकर्ता और दुकानदारों के बीच नोकझोंक
भारत बंद के कार्यकर्ता अमीन कागजी के नेतृत्व में त्रिपोलिया बाजार बंद करवाने पहुंचे. जहां पर दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद करने से मना करने पर दुकानदारों और कार्यकर्ताओं में नोकझोंक शुरू हो गई. जिसके बाद प्रदर्शनकारी कार्यकर्ताओं ने दुकानदारों को जिंदगी भर के लिए दुकानें बंद करवाने की धमकी दी. नोकझोंक ज्यादा बढ़ने के बाद अमीन  खुद अपनी गाड़ी से नीचे उतर कर आए और दुकानदारों से माफी मांग कर हाथ में गुलाब का फूल संभालकर भारत बंद को सफल बनाने के लिए कहा. जिसके बाद भी दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद नहीं की है.

Leave a Reply