अमित शाह आकर भी दम लगा ले तो भी नागौर की 10 सीटों पर हारेगी भाजपा-हनुमान बेनीवाल

Hanuman Beniwal 

राजस्थान में BJP ने कोई काम नहीं करवाया है. जिससे राजस्थान की जनता सरकार से नाराज चल रही हैं, और जगह-जगह पर उनकी गौरव यात्रा में काले झंडे दिखा रहे हैं. तो कहीं पत्थरबाजी कर रहे हैं, और सरकार को हराने का पूरा मन बना लिया है.

इस सरकार को सबक सिखाने के लिए सांगानेर के विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने भी बीजेपी का दामन छोड़ कर अपनी नई पार्टी भारत वाहिनी खड़ी कर ली है. इसके साथ ही खिमसर के निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल अभी किसानों का मसीहा बन रहे हैं.

विधायक हनुमान बेनीवाल ने आज मीडिया से बातचीत करते हुए स्पष्ट कर दिया है, कि वह घनश्याम तिवाड़ी के साथ मिलकर आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेंगे. बेनीवाल ने साफ तौर पर कहा है कि घनश्याम तिवाड़ी उनके पारिवारिक रिश्तेदार हैं.

हनुमान बेनीवाल ने कहा कि, घनश्याम तिवारी मेरी तरह सरकार के खिलाफ लड़ रहे हैं. वह सदन के अंदर भी लड़ रहे हैं. और सदन के बाहर भी मेरी ही तरह सरकार के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं.

विधायक बेनीवाल ने बीजेपी के साथ साथ कांग्रेस को भी आड़े हाथों लिया है. बेनीवाल ने कहा है कि, राजस्थान में भाजपा और कांग्रेस का मिलाजुला खेल है. इस खेल के बारे में अब जनता को पता चल गया है. अब जनता सब जानती है, और आगामी चुनाव में दोनों पार्टियों को उखाड़ फेंकेगी. और हमारा तीसरा मोर्चा जीतेगा.

पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक हनुमान बेनीवाल ने अपने जिला नागौर का जिक्र करते हुए कहा है कि, राजस्थान में अगर भाजपा पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और संघ प्रमुख मोहन भागवत आकर भी नागौर में प्रचार करते तो भी सरकार जीतने वाली नहीं है. यहां पर 10 में से 10 सीटें BJP पूरी तरह से हारेगी.


पिछले दिनों किरोड़ी लाल मीणा ने विधायक बेनीवाल का हाथ छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया था. उस पर बेनीवाल ने अपने बयान में कहा है कि, उनको मीणा के साथ छोड़ने से कोई फर्क नहीं पड़ता है. बल्कि उनका मोर्चा किरोड़ी मीणा के जाने के बाद मजबूत हुआ. इस का जीता जागता उदाहरण है, सीकर की हुंकार महारैली.

मीडिया के पूछे गए सवाल पर जवाब देते हुए विधायक बेनीवाल ने कहा है कि, उन्हें तीसरी शक्ति के रूप में सांगानेर के विधायक घनश्याम तिवाड़ी का साथ मिलेगा वे उनके साथ मिलकर काम करेंगे. और हमारा तीसरा मोर्चा जीतेगा.

Leave a Reply