विधायक घनश्याम तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी से खुली बगावत के बीच उठाया बड़ा कदम

विधायक घनश्याम तिवारी ने भारतीय जनता पार्टी से खुली बगावत के बीच उठाया बड़ा कदम

ghanshyam-tiwari-create-new-party-rajasthan, ghanshyam-tiwari-lasted-news
Tiwari revolt from that bjp

25 जून को विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने भारतीय जनता पार्टी (BJP)  से इस्तीफा देने के बाद में अब वह एक बार फिर भाजपा के खिलाफ खुली बगावत में आ गए हैं
घनश्याम तिवाड़ी पहले भी जब बीजेपी के अंदर थे जब भी मैं उनका विरोध कर रहे थे उसके बाद में वह पार्टी से निकल गए और अपनी नई पार्टी भारत वाहिनी पार्टी ( Bharat Vahini Party ) बनाकर राजस्थान मैं कांग्रेस और भाजपा के बीच में एक तीसरी पार्टी खड़ी कर दी
अब घनश्याम तिवारी ( Ghanshyam Tiwari ) अपनी पार्टी भारत वाहिनी ( Bharat Vahini ) का पोस्टर और बैनर लगाकर जनता के बीच और न्यूज़ में लगातार छाए हुए हैं
 

         पार्टी की सदस्यता ग्रहण की

इसी बीच कल रविवार ( Sunday )को वह अपनी पार्टी भारत वाहिनी ( Bharat Vahini ) की सदस्यता ग्रहण की
साथ ही घनश्याम तिवारी से उनके पार्टी में जुड़े लोगों ने उनसे प्रदेश अध्यक्ष ( State President ) पद को ग्रहण करने की अपील भी की थी.

Bharat-Vahini-Party-Poster, Rajasthan News
Bharat Vahini Party Poster

          Bjp इस्तीफा स्वीकार नहीं 

भारतीय जनता पार्टी ने सांगानेर के विधायक घनश्याम तिवाड़ी का इस्तीफा अभी तक स्वीकारा ( Acceptance ) नहीं है .
लेकिन तिवारी ने इन सब की फिक्र छोड़ कर अपने पार्टी का प्रचार करना शुरू कर दिया तथा उन लोगों से मेल मिलाप और प्रचार शुरू कर दिया ताकि लोगों को पता चले कि राजस्थान में तीसरे फ्रंट को वोट दें
     

                अमित शाह को पत्र लिखा

जानकारी के लिए बता दें कि सांगानेर के विधायक घनश्याम तिवारी ने पिछली 25 जून को BJP के पद से इस्तीफा दिया उसके बाद में अमित शाह ( Amit Shah )को पत्र लिखकर भी भेजा .
लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तिवारी का इस्तीफा अभी तक के भाजपा सरकार ने स्वीकार नहीं किया है क्योंकि यदि भारतीय जनता पार्टी घनश्याम तिवारी का इस्तीफा स्वीकार कर लेती तो उसकी जानकारी सरकार को विधानसभा ( Assembly ) को भेजनी पड़ती है विधानसभा ( Assembly ) को ऐसी सूचना कोई अभी तक नहीं भेजी गई .
( Assembly ) विधानसभा को सूचना मिलने पर ही बीजेपी से तिवारी की सदस्यता ( Subscribe ) रद्द ( Canceled ) होगी.

       तिवारी का सवागत जोरों पर

घनश्याम तिवारी ने हाल ही में अपने पार्टी भारत वाहिनी ( Bharat Vahini ) का प्रचार शुरू किया है और प्रचार ( Publicity ) में उनका स्वागत जोरों पर हो रहा है
और तिवारी भी लगातार कोशिश कर रहे हैं कि वह ज्यादा से ज्यादा लोगों से जुड़े उनसे जाकर मिले और अपने पार्टी  ( Party )के बारे में बताएं ताकि लोगों को पता चले .

 पहला पार्टी सम्मेलन 3 जुलाई  ( July ) को

हम आपको बता दें कि घनश्याम तिवारी आपने पार्टी भारत वाहिनी  ( Bharat Vahini Party ) बनाने के बाद वह अपना पार्टी का पहला सम्मेलन 3 जुलाई को तय किया गया हैं
जिसमें 2000 लोग  ( people ) 200 विधानसभा क्षेत्रों ( Area )से भाग लेंगे
जिसमें तिवारी अपनी पार्टी के कार्य योजना ( work plan ) बताएंगे |

Leave a Reply